वास्तु के अनुसार घर के बाहर करें ये कलर , Wall Colour According to Vastushastra

किसी भी मनुष्य के लिए सबसे जरुरी जो एक चीज़ होती है , जिसकी हम सब कामना करते है वह होता है - घर ! 

हम सभी चाहते है की हमारा घर सबसे सुंदर हो , तथा यह इस प्रकार से बना हो की हमे घर में रहने से सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त हो। 

ऐसे ही घर की कामना पूर्ति के लिए घर बनाने तथा उसकी सजावट के लिए हम सभी प्रकार की युक्तिओं को अपनाते हैं। 


Wall Colour According to Vastushastra

घर के लिए कलर का वास्तुशास्त्र में बहुत अधिक महत्व है, किसी भी जगह में रंगो का सही चयन उस घर की ऊर्जा में अपना बहुत अधिक महत्व रखता हैं। 

यदि आप भी वास्तु अनुसार घर के बाहर का कलर के बारे में जानना चाहते है तो यह लेख अंत तक पढ़ें। 

Table of Content:

1. घर के बाहर का कलर, Home Colour Outside. 
2. Home Colour, घरो के रंग
3. Home Colour Selection, घर के रंगो का चयन
4. Best color for home, घर के लिए सबसे अच्छे रंग
5. Home Wall Colour,दीवारों के रंग
6.Home Front color:
7.Home color Decoration:
8.Main door Colour, मुख्यद्वार के लिए रंग:
9.Drawing Room Wall Colour, Living Room Wall Colour:
10.Vastu Colours, वास्तु अनुसार रंग:
11.Vastu Colours for Directions.
12.निष्कर्ष.

घर के बाहर का कलर , Home Colour Outside:


किसी भी घर की सजावट में उसके बाहर के कलर का बहुत महत्व होता है , जब भी हम किसी घर का निर्माण करते है तो हम घर के बाहर की सजावट जैसे बालकनी , wall colour तथा बाहरी सजावट का विशेष ध्यान रखते है। 

ताकि जो भी हमारे घर को बाहर से धेखे उसे घर बहुत ही सुंदर दिखें। क्योकि आजकल के समय में घर को अंदर से सुंदर होने के साथ-साथ बाहर से सुंदर होना भी जरुरी हैं। 

आईये घर को बाहर से सुंदर बनाने में रंगो के बारे में विस्तार से समझते हैं। 

  1. हमेशा घर के बाहर डार्क रंगो का चुनाव करना चाहिए , ऐसा करने से घर के बाहर का रंग भद्दा नहीं दिखता। 
  2. घर के बाहर रंग कराते समय ध्यान रखें की मुख्यद्वार और बाहर की दीवार का रंग अलग हो। 
  3. रंगो के चयन का बाहरी दीवारों पर ध्यान रखना चाहिए क्योकि घर बाहर से कैसा दीखता है इसका घर पर बहुत प्रभाव पड़ता हैं। 
  4. मुख्यद्वार पर हमेशा हल्के रंगों का उपयोग करें। 
  5. घर के बाहर सजावटी समान लगाते समय ध्यान दे की वह घर के रंगो के साथ अच्छा लगे। 
  6. सही रंगो के चुनाव से हम घर की दिशा को और अच्छा कर सकते हैं। 

उपरोक्त कुछ बिन्दु है जोकि किसी भी घर के बाहरी रंगो का चुनाव करते समय ध्यान रखने चाहिए। जोकि हमे किसी भी घर को बाहर से सजाने व सही रंगो का चुनाव करने में हमारी मदद करते हैं। 

आगे लेख में हम घरों में उपयोग किए जाने वाले रंगो के बारे में समझेंगे। 



Home Colour, घरो के रंग :


Home Colour वह कलर होते है जिनका प्रयोग घरों में किया जाता हैं। जिनका चुनाव उस घर की दिशा के अनुसार किया जाता हैं। 

वास्तुशास्त्र में रंगो का बहुत महत्व है , हर एक जगह के लिए उसके उपयुक्त रंगो के बारे में बताया गया है , जोकि किसी दिशा की ऊर्जा को बढ़ाने में हमारी सहायता करते हैं। 

किसी भी स्थान में रंगो का सही उपयोग उस जगह की सुंदरता को बढ़ा देता है साथ ही वहा की ऊर्जा भी अपने आप सकारात्मक हो जाती हैं। 

कई बार अपने देखा होगा की यदि किसी ने अपने ड्राइंग रूम में यदि डार्क कलर का उपयोग किया है तो उसका ड्राइंग रूम छोटा प्रतीत होता हैं। 

वहीं किसी घर के ड्राइंग रूम में डार्क और ब्राइट कलर का कॉम्बिनेशन उस ड्राइंग रूम की सुंदरता को बढ़ा देता है साथ ही ड्राइंग रूम दिखने में भी अच्छा लगता हैं। 

आगे हम आपको होम कलर करवाते समय कुछ बातें है जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए उसके बारे में समझेंगे। 

  • जब भी किसी ऐसी जगह रंग करना हो जहां जगह कम हो तो वहां डार्क रंगो का चुनाव नहीं करना चाहिए। 
  • यदि आप नये शादी शुदा जोड़े के बैडरूम में रंग करना चाहते है तो हमेशा वहां रेड फॅमिली रंगो का चयन करें। 
  • घर के बाहर हल्के राण न कराये। 
  • यदि घर की दीवारें डार्क रंग की हो तो परदे आदि हल्के रंगो के रखें। 
होम कलर का चयन करना एक प्रक्रिया है जिसके बारे में जानने के लिए आप हमारे लेख को अंत तक पढ़ें। 


Home Colour Selection, घर के रंगो का चयन:


Home Colour Selection किसी भी घर के लिए बहुत जरुरी होता है , आजकल के समय में हम सभी ऐसा घर चाहते है जोकि बहुत सुंदर हो। 

रंग ही वह माध्यम है जोकि घर की सजावट को ओर अधिक बढ़ा देते हैं। रंगो का हमारे मन पर भी बहुत प्रभाव पड़ता है जिसके बारे में हम आगे लेख में चर्चा करेंगे। 

रंगो का चयन करते समय ध्यान रखें की दीवारों के मुकाबले छत का रंग हल्का होना चाहिए। 

यदि किसी ऐसी जगह के लिए रंग का चुनाव करना हो जहां सिर्फ समान रखना हो तो वहां डार्क रंगो का प्रयोग करें। 

कोशिश करें की तीन से ज्यादा रंग एक साथ न किये गए हो , ऐसा करने से उस जगह असंतुलन पैदा होता है जिसके कारण वह स्थान घर में ज्यादा वक्त खाली ही रहता हैं। 

Best colour for home, घर के लिए सबसे अच्छे रंग:


घर के लिए सबसे अच्छे रंग का चुनाव किसी भी घर की दिशा तथा उसके साइज पर निर्भर करता हैं। 

यदि घर का आकार छोटा है तो हमे घर में हल्के रंगो का इस्तेमाल करना चाहिए और साथ ही एक से अधिक रंगो को साथ में करवाना चाहिए ऐसा करने से छोटा घर बड़ा लगता हैं। 

और साथ ही रंगो के सही इस्तेमाल से घर में उजाला भी बढ़ जाता हैं। 

यदि किसी घर के ऐसे हिस्से में रंग का चुनाव करना हो जहां ज्यादा उजाला न आता हो तो वहां येलो कलर इस प्रकार से कराये की रूम के अंदर घुसते ही रंग दिखे , इससे वह कमरा ज्यादा उजाला वाला प्रतीत होता हैं। 


Home Wall Colour,दीवारों के रंग:


दीवारों के रंग हमेशा छत के रंग से डार्क होने चाहिए, दीवारों पर सिंगल कलर का इस्तेमाल करने से किसी भी कमरे की सहजता बढ़ती हैं। 

उदाहरण के लिए यदि आप मैडिटेशन रूम में रंग करना चाहते है तो सफ़ेद या पीला रंग दीवारों पर करें ऐसा करने से आपको ध्यान लगाने में आसानी होगी। 

यदि किसी दीवार पर कोई सजावट करनी हो तो ध्यान रखें की सजावट वाली वस्तु का रंग दिवार के रंग से डार्क होना चाहिए। 

किसी भी कमरे में एक दिवार डार्क तथा बाकि दीवारों पर हल्के रंगो का इस्तेमाल करें। 

Home Front color:


Home front colour का चुनाव करते समय ध्यान रखें की यह मुख्यद्वार के रंग से डार्क हो तथा दिशा के अनुसार हो। 

घर की फेसिंग के हिसाब से रंगो के बारे में हम आगे लेख में जानेंगे इस लिए आप अंत तक बने रहें। 

परन्तु घर के मुख्यद्वार का रंग इस प्रकार से किया जाना चाहिए की वह बाकि घर के रंगो  हो , तथा वह अंदर घुसते ही किसी भी सदस्य को अच्छा प्रतीत कराये। 

यी आप अपने घर के बाहर के रंग को अच्छे से चुनना चाहते है तो आप एक डार्क और दूसरा कम डार्क रंग साथ में करायें ऐसा करने से घर के बाहर देखने पर अच्छा प्रतीत होता हैं। 


Home colour Decoration:


यदि हम रंगो को सजावट के लिए इस्तेमाल करना चाहते है तो यह भी घर के लिए बहुत अच्छा होता हैं। 

इससे घर में देखने से सजावट ज्यादा हैवी नहीं लगती और घर में सुंदरता भी आ जाती हैं। 

आगे हम ऐसे कुछ टिप्स बता रहें है जिनका प्रयोग आप सजावट के लिए कर सकते हैं। 

  • किसी भी कमरे के सामने वाली दीवार पर हमेशा बाकि दीवारों के मुकाबले डार्क रंग करना चाहिए। 
  • जब भी घर की सजावट में रंगो का उपयोग करें तो ध्यान रखें की सजावटी समान के मुकाबले कमरे में हल्के रंग हो। 
  • आप यदि किसी भी जगह को सुंदर बनाना चाहते है तो वहां एक से अधिक रंगो को चुने। 

Main door Colour, मुख्यद्वार के लिए रंग:


किसी भी घर का मुख्यद्वार उस घर की ऊर्जा तथा उस घर की सुंदरता का आधार होता है , जैसा की मुख्यद्वार वास्तु में भी बताया गया है की मुख्यद्वार बनाते समय विशेष ध्यान रखना चाहिए। 

मुख्यद्वार से ही घर में ऊर्जा का संचार होता है इसलिए जरुरी है की मुख्यद्वार के रंगो के बारे में विस्तार से जाने। 

घर के मुख्यद्वार को हमेशा घर के बाकि दरवाजों से बड़ा बनाना चाहिए , तथा जैसे ही कोई घर को बाहर से देखे उसे मुख्यद्वार सुंदर दिखे इसके लिए मुख्यद्वार का रंग बाहर की दीवारों से अलग होना चाहिए। 

मुख्यद्वार के रंगो का चयन वास्तु दिशाओ के आधार पर करना चाहिए। यदि घर की फेसिंग ईस्ट हो तो मुख्यद्वार  ईस्ट में ही बनाना चाहिए। 

Drawing Room Wall Colour, Living Room Wall Colour:


किसी भी घर का ड्राइंग रूम उस घर का मुख्य हिस्सा माना जाता है , इसका कारण है किसी भी मेहमान का सबसे पहले घर में आते ही हम अपने लिविंग रूम में ही उनका स्वागत करते हैं। 

जैसा की कहा जाता है
First Impression is last Impression.

इसलिए ड्राइंग को सजाने तथा उसके लिए रंगो के चुनाव में निम्न बातो का ध्यान रखना चाहिए :

  • घर में लिविंग रूम के रंग इस प्रकार से करने चाहिए की वह एंट्रेंस के रंग से मिलते हो , ऐसा करने से लिविंग रूम एंट्री से जुड़ा प्रतीत होता हैं। 
  • यदि लिविंग रूम नार्थ ईस्ट दिशा में हो ो वहां नील रंग का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 
  • काळा रंग का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए , काला रंग करने से घर में नकारात्मक ऊर्जा का वास होता हैं। 
  • ड्राइंग  दीवार का रंग बाकि दीवारों के रंग से अलग रखना चाहिए , आईएस करने से कमरे की खूबसूरती और बढ़ जाती हैं। 


Vastu Colours, वास्तु अनुसार रंग:


Vastu Colours से हमारा तत्प्रेत्य ऐसे रंगो से है , जोकि वास्तु द्वारा बताई दिशाओ में कराये जाते है , रंगो को वास्तु दिशाओ के अनुसार कराने से किसी भी घर की ऊर्जा और अधिक बढ़ जाती हैं। 

वास्तु  में रंगो चयन करने  किसी भी प्रकार दोष उतपन्न नहीं हो पाता है। और यदि पहले से वहां कोई वास्तु दोष होता है वो भी रंगो का सही चयन करने से दूर हो जाता हैं। 

वास्तुशास्त्र में हर एक जगह के लिए उसकी दिशा के अनुसार रंग बताये गए है , इसलिए जरुरी है की हम रंगो को सही प्रकार समझें। 

Vastu Colours for Directions:


वास्तु के अनुसार रंगो का चयन करने के लिए वास्तु में रंगो को दिशाओ में विभाजित किया गया हैं। 

यदि आप अपने घर में वास्तु अनुसार रंगो का चयन करना चाहते है तो दिए गए चित्र  अनुसार रंगो का चुनाव करें। 


निष्कर्ष:

वास्तु के अनुसार  घर के बाहर के कलर का चुनाव करने  वास्तु के अनुसार बताये सभी नियमो के बारे में हमने विस्तार से चर्चा की है। 

हम आशा करते है की आपको दी गयी जानकारी अच्छी लगी होगी , इसे अपने मित्रो व रिश्तेदारों  जरूर शेयर करें। 

आपके कीमती समय के लिए आपका धन्यवाद। 

ये भी पढ़ें:








No comments:

Post a Comment

Please do not enter any Spam link in the comment box.

INSTAGRAM FEED

@soratemplates